सावन

in #nice2 years ago

चलो आओ सखि उस पार चले,
सावन रहा बुलाए।
रिमझिमम बरसे मेघा
मन बहका बहका जाए।।

अम्बुआ की डाल पे कोयल
मीठा राग सुनाय,
दादुर,मोर पपीहा
कोई वाद्य यन्त्र बजाए।
मन करता है बगियन में
अब झूला ले डलवाए ।।

पिया परदेश गए है
ये सोच के मैं घबराऊँ,
जाने कब आना होगा
मन ही मन मैं डर जाऊँ।
उनके आने की टोह में
कहीं सावन ना ढल जाए ।।

काले-काले मेघा
अम्बर पर घिर-घिर आए,
घटा ने जूडा खोला
सखि पानी टपका जाए।
पेंग बढा नभ छू लू
सखि जियरा रहा ललचाय ।।

Sort:  

WARNING! The comment below by @sherazkhan leads to a known phishing site that could steal your account.
Do not open links from users you do not trust. Do not provide your private keys to any third party websites.

Exclusive offer GET 5 STEEM Airdrop
Join our Site and get 5 steem airdrop on your steem account. The Campaign has start for attract new user to use our service and mass adoption.
Get 5 STEEM NOW CLICK HERE