प्रेम का महत्त्व (भाग #२) | Importance of Love (Part #2)

in life •  3 months ago

प्रेम का महत्त्व (भाग #२) | Importance of Love (Part #2)

“समियाए धम्मे आरिएहिं पवेइए”

यही कारण था कि भगवान के समीप पहुंचकर प्रत्येक प्राणी शांति और आनन्द का अनुभव करता था । वह प्रेम के राजमार्ग पर चलने की अनुपम प्रेरणा ग्रहण करता था ।
prem.jpg

सूली पर चढ़े हुए, शरीर पर ठुकी हुई कीलों से, लहूलुहान ईसा ने क्या कहा था ।

ईसा ने कहा था – “प्रभु इन प्राणियों को क्षमा करना, यह जानते नहीं कि वे क्या कर रहे हैं ।”

भगवान महावीर और ईसा का यह अदभुत क्षमाभाव उनकी आत्मा के अनन्त प्रेम का ही परिणाम था । इस प्रेम ने ही उन्हें जन्म-जन्म शुभाशुभ कर्मों से मुक्ति दिलाकर परमात्मा पद पर आसीन कराया था ।

मनुष्य के ह्रदय में करुणा की यह लहर उठती है । इस लहर के साथ वह त्याग की ओर बढ़ता है । उसके इस त्याग से चकाचौंध होकर सोई हुई मानवता जागृत होती है और उस परम त्यागी प्रेमी के जयघोष से आकाश गुंजित होने लगता है । हमारे ह्रदय से यह भावना स्वत: ही उमड़ने लगती है ।

प्रत्येक मानव सम्मान चाहता है । प्रत्येक मानव की अभिलाषा होती है कि उससे सब प्रेम करें, कोई घृणा न करे, कोई असम्मान न करे । यह प्रेम तथा सम्मान प्राप्त करना कठिन भी नहीं है । आवश्यकता इतनी ही है कि मनुष्य यह जान ले कि जो कुछ वह स्वयं अपने लिए चाहता है वही वह दूसरों के लिए भी चाहे, दूसरों को भी दे । यदि एक व्यक्ति अन्य व्यक्तियों से द्वेष करता है तो वह कैसे सम्भव है कि उसे दूसरों का प्रेम मिलेगा ? यदि एक व्यक्ति किन्हीं विशिष्ट सांसारिक पदार्थों अथवा व्यक्तियों में राग रखता है तो वह शुद्ध प्रेम को पहचानता ही नहीं ।

अस्तु, हमें यह जानना चाहिए कि प्रेम वह उच्च स्थिति है जहां न राग है, न द्वेष । राग-द्वेष की तीव्रता जितनी अधिक होगी उतना ही अधिक दुःख होगा । सच्चे सुख का अनुभव करने के लिए राग-द्वेष की कषायमय काली घटाओं को विदीर्ण करना होगा । कहा गया है –

“कषाय मुक्ति: किल मुक्तिरेव: ।”

प्रेम को परमात्मा का स्वरूप कहा गया है । इस कथन में तनिक भी अयथार्थ नहीं है । परमात्मा तो अनन्त प्रेममय ही है । वह अनन्त प्रेम ही उन आत्माओं में अनन्त ज्ञान की सृष्टि करता है ।

परमात्मा सर्वत्र है, अथवा प्रभु का निवास सभी जगह है – ऐसा जब कहा जाता है तब उस कथन का यही आशय है कि प्रेम सर्वत्र है । सिंह के समान क्रूर अन्य कौन-सा प्राणी होगा ? किन्तु उसके ह्रदय में भी प्रेम का निवास है । वह अपने बच्चों से प्यार करता है । वन में अखण्ड प्रेम की ज्योति ह्रदय में धारण कर विचरते हुए अथवा ध्यान-धारण करते हुए मुनियों के चरणों में लोटते हुए सिंह को भी देखा जाता है । क्या यह कोई चमत्कार है ?

हाँ ! प्रेम एक अदभुद चमत्कार है । अत: हम सभी को अपने ह्रदय में बसे हुए शुद्ध प्रेम को पहचानना चाहिए और प्रेम के मार्ग पर नि:शंक होकर चलना चाहिए । हमारे मार्ग की समस्त बाधाएं ओस की बूंदों के भांति हवा में विलीन होती चली जाएंगी । हम जिन्हें भ्रमवश अपना शत्रु मानते होंगे, वे सभी हमारे परम मित्र बन जाएंगे । यह होगा प्रेम का चमत्कार ।

इससे आगे हम प्रेम को एक उदाहरण से समझेगे।

पिछली पोस्ट का जुडाव है -

  1. https://steemit.com/life/@mehta/or-importance-of-love-part-1

The English translation of this post with the help of google tool as below:

"Shiamaiya Dham Arhim Puweye"

This was the reason that every creature experienced peace and happiness after reaching near God. He used to take the unique inspiration of walking on the highway of love.

What was said to the crucified Jesus, on the cross, from the nails stuck on the body.

Jesus had said - "Lord, forgive these creatures, they do not know what they are doing."

This gracious apology of Lord Mahavir and Jesus was the result of the eternal love of his soul. This love had made him savior from the birth of birth and birth, and in the divine office.

This wave of compassion arises in the heart of man. With this wave, he moves towards sacrifice. Due to this renunciation, the sleeping humanity is awakened, and the sky is melted by the hail of the supreme solitaire boyfriend. From our heart, this feeling starts growing up automatically.

Every human wants respect. The desire of every human being is to love him, to do no harm, not to disrespect anybody. It is not difficult to find love and respect. The necessity is that the man should know that whatever he wants for himself, he should give it to others, even to others. If a person hates other people, how is it possible that he will get the love of others? If a person keeps a passion in certain material matter or individuals, then he does not recognize pure love.

Of course, we should know that love is a high position where there is no anger, no hatred. The greater the intensity of anger-malice, the greater the grief will be. To experience true happiness, it is necessary to eradicate the kalayamya black dosages of anger-malice. Having said -

"Kashya Mukti: Kill Muktireev:."

Love has been called the nature of God. In this statement, there is nothing even inaccurate. Paramatma is eternal love. That eternal love creates eternal knowledge in those souls.

Parmatma is everywhere, or the Lord's abode is everywhere - when it is said, then that statement means that love is universal. What other cruel animal would be like a lion? But his heart is also a home of love. She loves her children. In the forest, the light of the unbroken love is seen in the heart, while roaming or meditating, the lion is also seen hanging at the feet of the Munis. Is this a miracle?

Yes ! Love is an amazing miracle. Therefore, we all should recognize the pure love settled in our hearts and should walk on the path of love and be determined by it. All obstacles in our path will go away in the air like the drops of dew. Those who deliberately consider themselves an enemy will all become our best friends. This will be the miracle of love.

Next we will understand love with an example.

प्रेम की Steeming

Footer mehta.gif

Authors get paid when people like you upvote their post.
If you enjoyed what you read here, create your account today and start earning FREE STEEM!
Sort Order:  

@mehta
प्यार सर्वोच्च से अधिक है। प्यार सबसे बड़ा है।
हाँ, यह भगवान की तुलना में एक निश्चित अर्थ में है; जबकि अभी तक, सभी की सर्वोच्च भावना में, भगवान प्यार है, और प्यार भगवान है। प्यार सर्वोच्च सिद्धांत है सभी गुणों का गुण है; जहां से वे बहते हैं।

Right like you said @mehta, love is not to have but love to give each other. There is no sense of hatred, anger, selfishness and forgiveness and mutual affection for human beings, that is eternal love. Hopefully @mehta's post feels like a benefit for the people of this world, my greetings to you @mehta ... always successful ...?

@mehta
लोग कहते है जिसे हद से ज्यादा प्यार करो , वो प्यार की कदर ही नहीं करता ,पर सच तो यह है ...प्यार की कदर जो भी करता है उसे कोई प्यार ही नहीं करता

·

हमें कदर से क्या करना है? प्यार तो है ही देने की चीज, चाहे सामने वाला उसकी कदर करे या नहीं. जिससे हमें सच्चा प्यार होता है फिर ये नहीं देखते है कि वो क्या कर रहा है बस प्रेम करते है.

·
·

बात तो आपने सही कही जी शायद आपको ज्यादा मालूम होगा क्यूंकि आप बड़े हो परन्तु सच यही है ,प्यार किसी किसी के नसीब में होता है , क्यूंकि हर कोई प्यार करे यह संभव ही नहीं , अगर कोई आपसे बात भी करता है तो भी मतलब के , बिना मतलब के कुछ नहीं है इस दुनिआ में

·
·
·

आप बात कर रहे है कि क्या हो रहा है, और मैं बात कर रहा हूँ कि क्या सही है और क्या होना चाहिए, बस यही फर्क है. इसी फर्क को समझे तो दोनों बातें ही सही है.
जो होना चाहिए प्रेम का मतलब वही है. कौन कैसे समझ रहा है ये वो जाने. गलत करने से, चीज गलत नहीं हो जाती वो तो वही रहती है. किसी के कुछ करने पर कोई रोक थोड़ी है. परन्तु हम सही और गलत तो समझ सकते ही है.
और एक बात बड़े और छोटे होने से बात सही या गलत नहीं होती है. बात तो वही रहती है चाहे कोई माने या न माने.

love is the best medicines.

Hi sir your post is very good your contant is good .this is definition of love.

Posted using Partiko Android

Thanks for the post, mehta.

This bot runs through hundreds of posts per day selecting a small percentage of posts that have exceptional positivity.

Your post has been selected and upvoted because it has a high concentration of positive words that give feel-good vibes. Thank you for creating content that focuses on the bright side.

Your post has also been entered to be included in a daily roundup of positive posts.Please comment 'yes' or 'no' if you feel that my bot is correct in its judgement of this post. Your comments will be used to determine if this article belongs in the curated list. Over time, your feedback will be used to improve the judgement of this bot

To listen to the audio version of this article click on the play image.

Brought to you by @tts. If you find it useful please consider upvoting this reply.

@mehta you have lot of experience, your post says all about your experience. very nice keep posting mate, we follower always with you

·

Thanks for kind words.
Keep always smiling with steeming.

·
·

Thanks @mehta getting from senior that kind of word help us positiveness , I'm very new to steem platform and trying to building reputation. This kind of word from my senior give me confidence to grown up....Thanks for all of your help

·
·

Thanks @mehta for your support

Yes it's a miracle to be in love :)

Posted using Partiko Android

इस संसार की सबसे दुर्लभ चीज़ जो है वह है प्रेम। सच्चा प्रेम पाना बहुत मुश्किल होता है। क्योंकि प्रेम ईश्वर की देन है!!!!

@mehta mere khyal se prem jivan ka ek satya he aur use dusro ko maf krne ki bhavana peda hoti he...
Prem me kuch pane ki lalsa ahi hoti sirf atma ki khusi se hota he prem....

Posted using Partiko Android

सच्चा प्रेम ईश्वर की अनमोल देन है। प्रेम ही मनुष्य को सच्चे आनन्द की अनुभूति करता है।

Posted using Partiko Android

प्रेम मे बडी ताकत होती है। वो दुश्मन को भी दोस्त बना सकता है।

You got a 19.56% upvote from @upme thanks to @mehta! Send at least 3 SBD or 3 STEEM to get upvote for next round. Delegate STEEM POWER and start earning 100% daily payouts ( no commission ).

@mehta purchased a 89.71% vote from @promobot on this post.

*If you disagree with the reward or content of this post you can purchase a reversal of this vote by using our curation interface http://promovotes.com

Beautiful post

Posted using Partiko Android

प्रेम एक बंधन है? बिलकुल नहीं! बंधन का परिणाम दुख होता है, परन्तु प्रेम तो आत्म सुख प्रदान करता है। इसलिए प्रेम बंधन नहीं स्वंत्रता है।

by @chnadrakant111

This user is on the @buildawhale blacklist for one or more of the following reasons:

  • Spam
  • Plagiarism
  • Scam or Fraud