एक प्रेम जो नयनों से शुरू हुआ और आँखो में ही डूब गया

in hindi •  15 days ago

कहते है की प्यार आँखो के रास्ते दिल में उतर जाता है, ऐसी ही कुछ पंक्तिया कविता के रूप में!

original.jpg
नयन देख हो गया मगन,
और नहीं कुछ ख़्याल रहा
उर में एक नशा सा छाया,
ऐसा पहली बार हुआ ।

वह पलक झुके तो निशा चले,
जो उठे पलक तो रवि चढ़े
उन नयनों का खेल निराला
जिससे मेरा दिल था आया ।

जीवन का सब सार था बदला,
नयी उमंग लहरायी थी
हर साँस में हर सोच में,
नयी तरंग सी आयी थी ।

किन शब्दों में करूँ उल्लेख
उन प्यारी सी आँखों का,
सागर जैसी गहरी थीं
मतवाले की मदिरा थी

नयनों की उस मदिरा का,
मैंने भी रस पान किया
बेसुध होकर उन नयनों पर
अपना जीवन वार दिया .....

to be continued...

Authors get paid when people like you upvote their post.
If you enjoyed what you read here, create your account today and start earning FREE STEEM!