Word of peace

in life •  2 months ago

IMG-20180729-WA0004.jpg
हम अपना वास्तविक स्वभाव भूल जाते हैं। हमारे आस पास के लोगों को देख कर हम अपना स्वभाव उनके जैसा कर लेते हैं।

अपने अंदर स्थित आइने में देखो और देखो कि तुम कौन हो - तुम अति सुंदर हो, इसमें उम्र की कोई सीमा नहीं।

तुम्हारे अंदर कुछ है और वह तबसे है जब तुम बच्चे थे , और वह तब तक रहेगा जब तक तुम्हारी आख़िरी स्वाँस रहेगी।

उस चीज़ को पहचानो। अपने जीवन को सचेत रूप से जियो। हर एक दिन में सचेत रहो क्योंकि यह दोबारा नहीं आएगा।

  • प्रेम रावत

We forget our true nature. We accept the nature of those around us.
Look in the mirror within you and see for yourself who you are: Beautiful, ageless.
There is something in you since you were a child, and it will be there till your very last breath.
Get to know it. Live your life consciously.
Be aware of every day because it’s irreplaceable.

-Prem Rawat

Authors get paid when people like you upvote their post.
If you enjoyed what you read here, create your account today and start earning FREE STEEM!